प्रस्तुतियाँ (2009)

लोकरंग 2009 की प्रस्तुतियां

कजरी गायन,निर्गुन गायन,कबीर गायन,चइता गायन, फरूवाह नृत्य, जांघिया नृत्य,धाबियाऊ नृत्य,कहरवा गायन,जोगिरा, भोजपुरी लोकगीत, जनवादी गीत, एवं गज़ल गायकी, नाटक- अंधेर नगरी :चौपट राजा और हवालात
गोष्ठी-विकास की आन्ही: उड़ गइल छान्ही
प्रतिभागी साहित्यकार-प्रो0 मैनेजर पांडेय रामजी राय, गिरीश चन्द श्रीवास्तव,अनिल सिन्हा, प्रणय कृष्ण्, राजेश कुमार,सूर्यमोहन कुलश्रेष्ठ,मनोज सिंह,अशोक चौधरी,कौशल किशोर,कपिलदेव,वेदप्रकाश पांडेय, संजय जोशी,जयप्रकाश धूमकेतु,भगवान स्वरूप कटियार एवं जनपद के अन्य साहित्यकार ।

लोकरंग 2009 की आमंत्रित नाटृय टीमें और उनकी प्रस्तुतियां

 

हिरावल
नाटक : अंधेर नगरी चौपट राजा

 

 

भारतीय जन नाट्य संघ
लोकगीत,जनगीत,कहरवा नृत्य,जांघिया नृत्य,धोबियाऊ नृत्य,बिरहा और जोगीरा

इप्टा,आजमगढ़ का गठन लगभग 15 वर्ष पूर्व किया गया था । प्रगतिशील संस्कृति की हिफाजत में संलिप्त इप्टा ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है । पूर्वांचल के कहरवा नृत्य, जांघिया नृत्य,धोबियाऊ नृत्य, बिरहा और जोगीरा को संरक्षित करने में इप्टा की टीम ने सराहनीय कार्य किया है । इस संगठन के संरक्षक हैं -हरमंदर पांडे़य और सुनील कुमार दत्ता ।

 

 

सूत्रधार
नाटक- हवालात

Comments are closed