निर्वाण कला मंच

निर्माण कला मंच, पटना(लोकरंग 2011)

निर्माण कला मंच, देश की प्रसिद्ध नाट्य संस्थाओं में से एक है । इस संस्था का गठन 20 अगस्त 1988 को किया गया था । अपने 21 वर्षीय रंगयात्रा के दौरान इसने हिन्दी रंग मंच पर बकरी, बिदेसिया, जसमा ओड़न, नल दमयन्ती, खड़िया का घेरा, हरसिंगार, रूस्तम सोहराब, कम्पनी उस्ताद, बड़ा नटकिया कौन, खुबसूरत बहू, जांच-पड़ताल, कहां गये मेरे उगना, घासीराम कोतवाल, हीरा डोम, अंधों का हाथी, उत्तर प्रियदर्शी आदि नाटकों के माध्यम से अलग पहचान बनाई है । संगीत प्रधान लोक नाटकों द्वारा इस संस्था ने जहां एक ओर नए कलाकारों को मंच प्रदान किया है वहीं हिन्दी लेखकों से उनका परिचय भी करवाया है । इस संस्था ने भिखारी ठाकुर रचित नाटक-`बिदेसिया´ की 500 से ज्यादा सराहनीय प्रस्तुतियां दी हैं

Comments are closed